Frendz4m Logo
Mon, Sep 20, 2021, 10:43:23 PM

Current System Time:

Get updatesShare this pageSearch
Telegram | Facebook | Twitter | Instagram Share on Facebook | Tweet Us | WhatsApp | Telegram
 

Forum Main>>

Sms/Jokes/Poems

>>

शायराना ऐ महफ़िल

Author
Page: 1    -  2    - Last
pratapa007User is offline now
PM [1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#1
HELLO FRIENDS.....HOPE U WILL LOVE THIS SHAYARI AND OTHER COLLECTIONS....IF YOU LIKE PLZ HIT THANKS...AND MAKE OUR GROUP GROW-----------------
3 thanks:
Mr.Love,Serecomputing,pHp,

Mr.Love ™User is not available now
[PM 1]
Rank : Helper
Status : Super Owner

#2
All the best to your creative thread
-----------------
1 thanks:
pratapa007,
pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#3
आँख में जितने भी आँसू थे ठिकाने लग गए ...
आते-आते इक तबस्सुम तक ज़माने लग गए ....

"आपसे इक बात कहनी है," बस इतनी बात थी...
मुझको इतनी बात कहने में ज़माने लग गए ....

तेरी पलकों के घने सायों का मौसम ख़ूब है....
धूप में निकला तो सर पे शामियाने लग गए....!!

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#4
तुमने कभी मेरा होना नहीं चाहा
इस बात पर मैंने रोना नहीं चाहा

गठरी में रख ख्वाहिश चुप से बांध दी
फिर न पाना चाहा,न खोना चाहा

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#5
उठ-उठ कर किसी का इंतजार कर के देखना
कभी तुम भी किसी से प्यार कर के देखना

कैसे टूटते हैं मोहब्बतों के रिश्ते
गलतियां दो-चार कर के देखना

जिंदगी का मतलब समझना हो तो
बारिश में कच्ची दीवार खड़ी कर के देखना

नफरत हो जाएगी तुमको दुनिया से
मोहब्बत किसी से बेशुमार कर के देखना

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#6
अल्फाज नही लिखते बल्कि उसमे दर्द पिरोते हैं........

वो शायर ही ही होते हैं जो स्याही से रोते हैं...

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#7
मौत के पास भी जाकर देखा है,
मैने भी दिल लगा कर देखा है!

चाँद को लोग दुर से देखते है,
मैने चाँद को पास बुला कर देखा है!

इश्क की किमत पुँछ लो मुझसे,
मैने घर तक लुटा कर देखा है!

प्यार तो भीख मेँ भी मिल जाता है,
मैने तो दामन को भी फैला कर देखा है!

एक शंक्स है जो भुलता नही मुझसे...
मैने सारी दुनियाँ को भुला कर देखा है...!

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#8
मेरे मरने के बाद उफ क्या नज़ारे रहे होंगे

कुछ जबरदस्त तो कुछ जबरदस्ती रो रहे होंगे
-----------------
post last edited by-pratapa007

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#9
अकेले चलने का मतलब यह नहीं है कि आप गलत हैं,

हो सकता है कि कल दुनिया आपके द्वारा चुने गए रास्ते पर चलना शुरू कर दे ...

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#10
क्या बात है बड़े चुपचाप बैठें हो।

कोई बात दिल पे लगी है,या दिल कही लगा बैठे हो ।

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#11
मुहब्बत का तरीका सब से जुदा रखा है,

जिक्र हर बात में तेरा मगर नाम छुपा रखा है..

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#12
वो मुझे इस तरह पसंद है,

जिस तरह बेईमान को रिश्वत..

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#13
लफ़्ज़ों का वजन उनसे पूछिये

जिन्होंने

लबों पे खामोशी उठा रखी हैं

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#14
कहीं कोयला तो कहीं खदान बिक रहा है.
गोल गुम्बद में हिंदुस्तान बिक रहा है..

यूँ तो कागज गल जाता है पानी की एक बूँद से.
चंद कागज़ के नोटों में मगर ईमान बिक रहा है..

गुलामी का दौर चला गया कैसे कहें जनाब.
कहीं इंसानियत तो कहीं इंसान बिक रहा है..

आज की नयी नस्लें होश में रहती कब हैं..
कैंटीन में चाय के साथ नशे का सामान बिक रहा है..

आधुनिकता और कितना नंगा करेगी हमको..
बेटे के फ्लैट के लिए बाप का मकान बिक रहा है

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#15
फ़ितरत किसी की ना आजमाया कर ऐ ज़िन्दगी,

हर शख्स अपनी हद में बेहद लाजवाब होता है।
-----------------
post last edited by-pratapa007

HackIMUser is not available now
[PM 1895]
Rank : Newbie
Status : Member

#16
Zeher bhai ....
Sourav112User is not available now
[PM 2687]
Rank : Newbie
Status : Member

#17
wow nice collection...
lolutan9999User is not available now
[PM 2713]
Rank : Beginner
Status : Member

#18
boht badiya bhai!
pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#19
"मत नफ़रत कर मुझसे मैं भी तेरी तरहा इंसान हूँ,

फ़र्क़ बस इतना है

तू महफ़िलों की रोनक है और मैं तेरे शहर में बदनाम हूँ......!!

pratapa007User is not available now
[PM 1729]
Rank : Newbie
Status : Member

#20
बहुत फ़सुर्दा लगते हैं मुझे, अब यार के क़िस्से
गुल-ओ-गुलज़ार की बातें, लब-ओ-रुख़सार के क़िस्से

यहाँ सब के मुक़द्दर में, फ़क़त ज़ख़्म-ए-जुदाई है
सभी झूठे फ़साने हैं, विसाल-ए-यार के क़िस्से

भला इश्क़-ओ-मुहब्बत से, किसी का पेट भरता है?
सुनो तुमको सुनाता हूँ, मैं कार-ओ-बार के क़िस्से

मेरे अहबाब कहते हैं, यही इक ऐब है मुझ में
सर-ए-दीवार लिखता हूँ, पस-ए-दीवार के क़िस्से

मैं अक्सर इसलिए लोगों से, जा कर नहीं मिलता
वोही बेकार की बातें, वोही बेकार के क़िस्से
Reply
You are not logged in, please

Login

Page: 1    -  2    - Last

Jump To Page:

Keywords:friends, shayari, collections, thanks,
Related threads:

New Shayaris/Quotes



Computer Audio Issue...


NEED REFRIGERATOR.


Awesome


Welcome


Marshmello Music Vidzzz


Repute button adjacent to thanks


A nice poem



TERMS & CONDITIONS | DMCA POLICY
Home | Top | Contact
Page generated in 0.26 microseconds
FRENDZ4M © 2021